ई-लेखा

जाल मंच पर ई-लेख प्रकाशन का दूसरा प्रयास ।

Wednesday, October 19, 2005

एफ डी आई - चाही के नाहीं

ये एफ डी आई नाम का जानवर हर देश में मौजूद है , चाहे विकसित हो या विकासशील ।।
भारत के नीति निर्माता तो इसे देश की प्रगति का आधार मानते हैं और प्यार पुचकार में कोई कमी नहीं रखते ।।
पर आखिर ये चाहिए ही क्यों ??
कृपया टिप्पणी करें ।।
मैं इस विषय पर एक बहस शुरू करना चाह रहा हूँ ।।

1 Comments:

  • At 7:38 PM, Blogger आशीष श्रीवास्तव said…

    एफ डी आई आज की तारीख मे अत्यंत जरूरी चिज है. कुल मिला कर दुसरो के पैसो पर ऐश है. अमरीका का विकास ही पूरा इसी पर आधारीत है. सारी दुनिया अमरीका मे पैसा लगाती है और वे ऐश करते हैं.

     

Post a Comment

<< Home